50+ दोगले लोग शायरी इन हिंदी | घटिया लोग स्टेट्स शायरी

Dogle log shayari in Hindi| मतलबी घटिया लोगों पर शायरी

आज के जमाने में हर कोई मतलबी घटिया लोग है। जब किसी को कोई काम होता है तो याद करते हैं और उनका काम होते ही भूल जाते हैं। मतलब की आज की दुनिया में सब मतलबी हैं कोई किसी का नही है। वक्त पड़े पर याद करते हैं और जब जरूरत नहीं होती है तो आपसे बात करना भी पसंद नहीं करते हैं। तो आज हम आ के लिए कुछ best dogle log shayari,top ghatiya log status, दोगले लोग शायरी, लेकर आए हैं जिन्हें आप अपने facebook, twitter, whatsapp, instgram पर शेयर करके दोगले लोगों को उनकी ओकात बता सकते हैं.

अगर किसी ने आपके साथ भू दोगलापंती की है विश्वाशगत किया है। तो आप नीचे हमने आपके लिए बढ़िया दोगले घटिया लोग शायरी, मतलबी शायरी इन हिंदी, लेकर आए हैं तो चलिए शुरू करते हैं।

बेस्ट दोगले लोग शायरी इन हिंदी


दिमाक में धोखा, होठों पर मुस्कान होती है, दोगले लोगों की सिर्फ यही पहचान होती है।

धोखा देने वाले दोगले ऐसे हैं जैसे कोई रोग हो।

सच्चाई से विश्वाश उठ जाता है, जब दोगले लोग अपनी बात से मुकर जाते हैं।

छोड़ गए वो साथ हमारा जो दोगले थे, जो कभी कहा करते थे हम हैं साथ।

दोगले लोगों पर शायरी इन हिंदी


मतलब से है रिश्ता, मतलब से है मित्रता, सभी दोगले कर रहे, मतलब का व्यवहार।

अपने हैं नही अब, जूठा है सब प्यार, भरा पड़ा है दोगलो से ये सवार्थी संसार।

गुम फिर कर इंसान अपनी बात पर आ जाता है, जब उनका मतलब खत्म हो जाता है, तो लोग अपनी औकात दिखा जाते हैं।

बुरे वक्त में लोगों की पहचान देख ली, काम पढ़ने पर दोगलों की ओकात देखी है।

जरा सी अभी आंख लगी थी हमारी मुश्किल से, चाहने वाले हमारे खड़े हो गए कंधा देने के लिए।

मन में गंदगी और जुबान में मिश्री घोलते हैं, सच में यार
कितने दोगले होते हैं लॉग।

Dogle log shayari status in hindi 


ठहराव न हो जिस रिश्ते में, वहां आपका ठहरना ही सही होगा।

दोगलों की बस्ती में अलग अलग डेरे हैं, तेरे मुंह पर तेरे और मेरे मुंह पर मेरे हैं।

बड़ी अजीब मुसीबत हैं जनाब, किसी बात का मतलब कोई नहीं समझता और मतलब की बात सब समझ जाते हैं।

जरा संभाल कर रखो अपने किरदारों को, एक बार दाग लग गया तो पूरी उम्र भर धुलेगा नहीं.

मतलबी दुनिया का बस एक ही फसाना है, आज तेरी जरूरत है तो तुझे दोस्त बनाना है.

दोगले इंसान पर शायरी स्टेट्स इन हिंदी 


डर बहुत लगता है उन लोगों का, जिनके चेहरे पर मिठास और दिल में जहर लिए गुमते है.

लोगो के बारे में क्या कहें, हमने तो उनको गूंगो की बुराई करते सुना है की ये कुछ कह ही नहीं सकता.

किसी को दबाने से दिक्कत है, किसी को उठाने से दिक्कत है, सारे जमाने को सारे जमाने से दिक्कत है.

लोगों का क्या है लोग तो खुदा से भी सवाल करते हैं, में तो सिर्फ एक इंसान हूं.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.