Advertisement

20+ latest attitude Shayari status 2021 दो लाइन एटिट्यूड शायरी फोटो

Attitude Shayari --- हैलो दोस्तों नमस्कार दोस्तों आज हम फिर से आपके लिए कुछ नए अंदाज मैं अकड़ शायरी बदमाशी शायरी फोटो तेवर शायरी फोटो रॉयल शायरी खतरनाक एटीट्यूड शायरी का टॉप 20 shayari ला का collection लेकर आए है अगर आपको ज्यादा शायरी चहिए तो आप हमारी वेबसाइट www.bestshayaripics.com
पर जाकर पड़ सकते हों 




प्यार और अपनी इज्ज़त के लिऐ जूको लेकिन 
प्यार ओर इज्जत मांगने के लिए नहीं 

Attitude Shayari status photos in hindi 2021
Pyar or ijjat ke liye juko lekin
pyar or ijjat mangne ke liye nhi

बाहर से तो सब एक जैसे हि होते हैं 
लेकीन नकाब अपने हिसाब से लगाते हैं

Bahar se to sab ek jaise hi hote hai lekin 
nakab sab apne hisab se pahnte hai 

बाहर से बिल्कल शान्त दिखने के 
लिए अन्दर बहुत छिपाना पढ़ता है 

Bahar se bilkul shant dikhne ke 
liye andar bhut chipana padta hai

अपनो को ही धोखा देकर आप कैसे 
कह सकते हों की दुश्मन पराए है 

Apno ko dhokha dekar aap kaise kah 
skte ho ki dushman paraye hai

गलत सही कुछ नहीं होता आपके लिए 
आप सही ओर हमारे लिए हम

Galat shi kuch nhi hota apke liye 
app shi or humare liye hum

इतने बुरे भी नहीं है हम जितना 
आपने हमें लोगों को बताया हैं

Itne bure bhi nhi hai hum jitna 
apne humhe logo ko bataya hai

नाम और पहचान अपनी खुद की होनी 
चाहिए जनाब चाहे वो छोटी ही क्यू ना हों 

Naam or pehchan apni khudh ki honi 
chahiye jnab chahe wo choti hi kyu na ho

वक्त जब पलटी मारता हैं ना तब 
बाजियां नहीं जिन्दगी पलट जाती हैं

Vaqt jab palti marta hai na
tab bajiya nhi jindgi palat jati hai

चुप और वो भी हम हों जाए ऐसा कभी हुआ़ नहीं 
और कोई हमसे ज्यादा बोले ये हमें बर्दास्त नहीं

Chup or wo bhi hum ho jaye aisa kabhi hua nhi or koi humshe jyada bole ye humhe bardast nhi 

जनाब ये दुनियां है महफिल मैं बदनाम 
और अकेले मैं सलाम करती है

Jnab ye duniya hai mehfil me 
badnam or akele me salam krti hai

हमारे पैरो की रफ्तार जरा धीमी है 
लेकिन जितनी भी है वो अपने दम पर हैं 

Humare pairo ki raftar jra dhimi hai 
leikn jitni bhi hai wo Apne dum par hai

अपनी आवाज़ को जरा धीमी रखना जनाब क्यूंकि 
हम जितने शांत हैं उससे ज्यादा खूंखार हैं

Apni aawaj ko jara dhimi rakhna jnab kyunki hum jitne shant hai usse jyada khunkhar hai

चाहे कोई भी हो बादशाह लेकिन जहां हम 
कदम रखते है हुकूमत वहा हमारी ही चलती है

Chahe koi bhi ho badhshah lekin jhan hum kadam rakhte hai hukumat vha humari hi chalti hai

हमनें आज तक जो खेल खेले वो खुद के 
दम पर खेलें है तभी तो तेरी जैसे हमारे चेले है 

Humne aaj tak jo khel khele wo khudh ke dum par khele hai tabhi to tere jaise humare chele hai

यू तो कुते भी भौंकते है खोफ के लिए 
लेकिन दबदबा हमेशा शेर का ही होता है 

Yu to kute bhi bhonkte hai khof ke liye lekin dabdba humesha sher ka hi hota hai
 
आग लगाना हमारी आदत नहीं हैं लोग हमारी 
सादगी से जले उसने हमारा क्या कसूर 

Aag lagana humari aadat nhi hai log humari sadgi se jale usme humara kya kasur 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ