wo khus hain kisi or ke sath shayari

Esa hi hota hai aaaj kal,
ek baat karne ko tadaf raha hota hain
our dusra kisi or ke saaath khus hainn.
ऐसा ही होता हैं आज कल

एक तड़फता है बात करने को 
और दूसरा किसी और के साथ खुश  हैं  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.