Advertisement

मुझसे पूछती थी, कंही मुझे छोड़ तो नहीं दोगे sad shayari

wo aksar mujh se puchhti thi, kabhi chhod to nhi doge
kash hum bhi puch lete to itna dard nhi hota
वो अक्सर मुझसे पूछती थी, कंही मुझे छोड़ तो नहीं दोगे
काश मैं भी पूछ लेता तो आज इतना दर्द नहीं होता


hamne to usse pyar kiya tha or tune time pass
humne to unko jindgi samjha tha or tune khilona
हमने तो उससे  प्यार किया था और तूने टाइम पास
हम तो उसको  जिंदगी समझा था  और तूने खिलौना


roti huyi aakhen kabhi jhuti nhi hoti
kyunki aansu tabhi aate hain
jab koi hamara apna dard deta hain
रोती हुई आँखे कभी झूठी नहीं होती
क्यूंकि आंसू तभी आते हैं
जब कोई हमारा अपना दर्द देता हैं 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ